इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है, और उसके प्रकार

You are currently viewing इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है, और उसके प्रकार
Spread this article

what is intraday trading in hindi – नमस्ते दोस्तों आज फिर आपका स्वागत करता हु, हमारे इस नए आर्टिकल में| तो दोस्तों आज हम देखेंगे what is intraday trading in hindi, इंट्राडे ट्रेडिंग क्या होता है| Intraday Trading करना फायदेमंद भी है, और जोखिम भरा, खतरनाक खेल भी है|

ऐसा होते हुए भी Intraday के प्रति लोगों में आकर्षण और उत्साह प्रत्येक व्यक्ति को होता है| इसलिए एक ही दिन में, बाजार में मुनाफा कमाने की आशा से अनेक लोग इंट्राडे ट्रेडिंग करना पसंद करते हैं| और क्यों न करे intraday trading हे ही ऐसा विषय| 

लेकिन इस ट्रेडिंग के गुण और दोषों के बारे में जानकारी होने तक उनका बहुत सा नुकसा हो चुका होता है| इसलिए नुकसान सहकार ट्रेडिंग का अनुभव लेने से अच्छा है, की इस विषय में हम आवश्यक और महत्वपूर्ण जानकारी हासिल करके, उसे सीख ले|

इस ब्लॉग में दी गई जानकारी के आधार पर इंट्राडे के विषय में विस्तृत जानकारी आप समझ जाओगे| यह ट्रेडिंग आपके लिए कीतनी फायदेमंद है, और कीतनी नुकसानदायक है? इसका तर्क वितर्क कर पाओगे| इस ट्रेडिंग में सफलता पाने के लिए आपको कीतनी मेहनत करनी होगी! और किस प्रकार करनी होगी? इसका अंदाजा आपको यह आर्टिकल पढ़ कर आ जाएगा|

आवश्यक बातों का आपको पूर्वानुमान होने के कारण; आपको इंट्राडे ट्रेडिंग का स्वीकार करना चाहिए, या नहीं? इस बात का निर्णय भी आप आसानी से ले पाओगे| आप जान जाओगे कि; इंट्राडे ट्रेडिंग में सफलता पाना कितना कठिन काम है| इस एहसास के कारण, आप और भी सतर्क हो जाओगे, और खुद को मन से तैयार कर लोगे| आइए इन पहलुओं को जान लेते हैं! what is intraday trading in hindi

 

what is Intraday trading in hindi – इंट्राडे ट्रेडिंग क्या होता है?

इंट्राडे ट्रेडिंग यानि, stock market में एक ही दिन में नफा या नुकसान का स्वीकार करके; अपने शेयर के सौदा को पूर्ण करना| यानी अगर आपने शेयर खरीदे होंगे तो उन्हें बेचना होगा, और आपने share पहले बेचे होंगे, तो उन्हें खरीदना होगा| और ध्यान रहे कि; आपको यह प्रक्रिया दोपहर 3:00 बजे तक पूर्ण करनी होगी| इस तरह एक ही दिन में अपने शेयर के सौदे को पूर्ण करने की प्रक्रिया को इंट्राडे कहते हैं| अभी तो आप समजगए होंगे की what is intraday trading in hindi

स्पेशल आपके लिए महत्वपूर्ण जानकारी वाले Articles

शेयर मार्केट क्या होता है ?

demat account क्या होता है ?

short selling in intraday in hindiशार्ट सेल्लिंग क्या होता है

जो शेयर आप खरीद लेते हो, उन्हें ही आप नफा आने पर बेचते हो| यह तो सरल व्यवहार है| लेकिन जो शेयर आप पहले बेचते हो; जो कि आपके पास नहीं है| और फिर नफा आने पर खरीद लेते हो, उसे short selling कहते हैं| जाहिर है कि कोई भी शेयर को आप बढ़ी हुई ऊपरी कीमत पर बेजोगे, और वह गिरने के बाद निचले स्थल पर खरीदोगे, तो ही आपको फायदा होगा, और अगर आपने कोई शेयर पहले बेचा यानी शॉर्ट सेल किया, और उस शेयर की कीमत बढ़ गई तो, आपका नुकसान होगा| इस बात को समझना बेहद जरूरी है|

सीधे और सरल भाषा में कहे तो; आपने यदि शेयर खरीदे हैं तो उन्हें बेचना होगा और आपने शेयर को बेचा है तो उन्हें खरीद कर सोदें को पूर्ण करना होगा| इंट्राडे ट्रेडिंग में पैसा कमाने के लिए आपको शेयर को कम कीमत में खरीदना है, और बढे  हुए दामों में बेचना है| और शॉर्ट सेल में पैसे कमाने के लिए, ऊंची यानी बढ़ी हुई कीमत पर, शेयर को पहले बेचना है, और कीमत नीचे गिरने के बाद; उस शेयर को खरीदना है, तो ही आप पैसे कमा पाओगे|

Intraday Trading Tips

ट्रेडिंग के इस प्रकार को एक प्रकार का जुआ समझा जाता है| शेयर बाजार में इन्वेस्टमेंट करने वाले सभी में और पुराने अनुभवी इन्वेस्टरोको इस ट्रेडिंग के बारे में, जानने की ख्वाइश होती है| इस ट्रेडिंग में शेयर खरीदने और बेचने का काम बहुत ज्यादा तेज गति से होने के कारण, उसमें नफा और नुकसान भी उसी तेज गति से होता है| इसलिए, उसकी तरफ लोगों का देखने का नजरिया भी कुछ अलग ही होता है| ट्रेडरों की मानसिकता भी कुछ अलग होती हैं; वह बाजार के एडिक्ट होते हैं|

intraday trading benefitial tips in hindi

1). ट्रेडिंग का यह प्रकार रस्सी पर चलने की कसरत का काम है| जो कि; हर किसी के बस की बात नहीं|आपके बुद्धि की फ्रीक्वेंसी संयम, चपलता, मन की एकाग्रता, बाजार विषय का ज्ञान इन बातों और गुणों पर आपकी सफलता निर्भर होती है|

2). जो भी ट्रेडिंग का निर्णय लेना है, वह स्वत: खुद लेना है; दूसरे व्यक्ति पर, निर्भर होकर कुछ नहीं करना है|

3). पानी में खड़े रहने वाले बगुले की तरह, स्थिर और सतर्क रहकर मौके का फायदा उठाना होगा|

4). trading में जो फायदा, जब भी मिलेगा उसे तुरंत लेने के लिए हमेशा सतर्क रहे|

5). शेयर की कीमतों के आंकड़ों पर बार-बार नजर रखनी होगी| Technical Chart का अंदाजा लेना होगा|

जैसे कि; टॉप वैल्यू, वॉल्यूम, गेनर, लूजर, पिवोट पॉइंट, यह सब बातें इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए जरूरी है|

6). शेयर बाजार में होने वाले, रोज की हलचल पर कड़ी नजर रखनी होगी, और उसका ब्यौरा लेना होगा|

7). किसी भी एक (Thumb Rules) थंब रूल्स को पकड़ कर ना बैठे, समय देख कर अपने टेक्निक का उपयोग करें| किसी भी शेयर के प्रति ज्यादा लालच ना करें, लालच बुरी बला है|

8) सुबह का एक प्रहर (Opening session)ओपनिंग सेशन, दोपहर 12:30 बजे का समय, और मार्केट बंद होते समय (Closing Session) क्लोजिंग सेशन, इस समय बाजार में तेज हलचल नजर आती है| इसलिए प्रत्येक Intraday Trading के लिए यह समय महत्वपूर्ण है|

9) अपने पैसों की लागत के हिसाबसे, और रिस्क लेनेकी मानसिक क्षमता के अनुसार,आपको कितना पैसा एक दिन में कमाना है? उतना पैसा जब भी आपको, उस दिन में मिले; तभी आपको अपना काम बंद करके, अपने दूसरे किसी काम में ध्यान लगाना चाहिए| अब ट्रेडिंग के लिए, दूसरे दिन की सुबह का इंतजार करना चाहिए| अन्यथा आप अपने कमाए हुए पैसे लॉस कर दोगे, इस बात का ध्यान जरूर रखे|

Intraday trading की वह जानकारी, जो आम निवेशक नहीं जानता|

वैसे तो इंट्राडे ट्रेडिंग  का टॉपिक काफी बड़ा होने के कारण, एक ही ब्लॉग में उसे समझना काफी मुश्किल है, और उससे आपके मन की द्विधा अवस्था होने की संभावना है| इसीलिए हमने इस इंट्राडे ट्रेडिंग के विषय को, 4 भागो मे विभाजित किया है| जो आपको संपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराएगा| तो आइए जान लेते हैं, इंट्राडे ट्रेडिंग के बारे में, वह बातें जिनसे सामान्य निवेशक अनजान होता है|

इंट्राडे ट्रेडिंग के important बाते,जिनसे सामान्य निवेशक अनजान होते है|

Intraday trading का तरीका, आम निवेशकों में से, सभी के लिए लाभदायक नहीं है| और उसके लिए आवश्यक नियमों का पालन करना भी कठिन है| परंतु शेयर बाजार में आकर्षक लगने वाला यह ट्रेडिंग का खेल; सभी को खेलने का मन करता है| कुछ क्षणों के लिए और कुछ समय के लिए, आनंद देने वाली बातों को करीब से देखना, उन्हें जान लेना, और उनका अनुभव करने की मनषा, हर इंसान के मन में होती ही है|

जैसे जुआ खेलना, सट्टा लगाना, शराब का सेवन करना, सिगरेट पीना, उसके अलावा और भी कई नशीली चीजों को दुनिया में कोई भी अच्छा नहीं मानता; फिर भी ऐसी हानिकारक नशीली चीजों का सेवन करने वालों की तादाद, बहुत ही ज्यादा है|और जब यह सब हानिकारक चीजें किसी इंसान पर हावी हो जाती हैं, तब उस व्यक्ति का सर्वनाश का कारन बनती है|

उसी प्रकार अनजानवश आप भी इस इंट्राडे ट्रेडिंग के गिरफ्त में आकर, अपनी संपत्ति को उछाल ना दो, इसीलिए इस विषय में; हो सके उतनी ज्यादा जानकारी हासिल करके, खुद का अज्ञान दूर करना आवश्यक है| उसके बाद ही आप तय कीजिए कि, यह दुधारी तलवार चलाने का खतरनाक खेल आपको खेलना है! या नहीं, और खेलना भी है, तो कैसे खेलना चाहिए?

Intraday के इस प्रकार के कारण; ट्रेडर को गैंबलिंग का आनंद, Trading के थ्रिल का अनुभव, और उससे  मिलने वाली कुछ समय की मजा| इसके अलावा कुछ भी प्राप्त नहीं होता, ऐसा हमने देखा है| लेकिन उसके लिए, उन ट्रेडर योद्धाओं को, उनकी बहुत सी संपत्ति का काफी बड़ा मोल चुकाना पड़ा था|

intraday trading से होने वाला नुकसान और हानि|

अगर कुछ चंद गिने-चुने, ट्रेडर्स को हम नजरअंदाज कर दे तो; इंट्रा डे ट्रेडिंग करने में, मुनाफा होने से ज्यादा खतरे की सम्भावना ज्यादा होती है| तो आइये जानते है, उन हानिकारक सम्भावनाओंके बारेमे; ताकि आप उनसे  बच सको|

intraday tradings harmfull effects – इंट्राडे ट्रेडिंग के कुछ हानिकारक संभावनाए 

अगर कुछ, चंद गिने-चुने, ट्रेडर्स को हम छोड़ दें तो, इंट्राडे ट्रेडिंग में मुनाफा होने से ज्यादा, नुकसान होने और खतरे की  संभावना ज्यादा होती है|

#1). शेयर बाजार में, आपकी संपत्ति घटने की संभावना बढ़ जाती है|

#2). ट्रेडिंग का एडिक्शन होता है; यानी ट्रेडिंग किए बगैर चैन नहीं पड़ता|

#3). शेयर बाजार के प्रति, और व्यक्तिगत जीवन में भी निराशा आती है|

#4). बाजार से सही मायने में , जो लाभ उठाना चाहिए, उससे आदमी हाथ मलते रह जाता है|

#5). समय और पैसे की व्यर्थ बर्बादी होकर, व्यक्ति पर पश्चाताप करने की बारी आती है|

#6). व्यक्ति के खुद के मित्र, रिश्तेदार, यह भी उसके काम नहीं आते हैं; और वह व्यक्ति एक मजाक बन कर रह जाता है, कितना भी ज्ञानी व्यक्ति हो, फिर भी उसके अंतर्मन में, अच्छे गुणों का नाश होते रहता है|

#7). आप ट्रेडिंग के अडिक्ट होने के कारण, ट्रेडिंग किए बगैर आप नहीं रह पाओगे, और आपका दूसरे किसी भी काम में  ध्यान केंद्रित नहीं हो पाता|

#8). इस प्रकार आपके धन, मन, तन  इन बातों का धीरे-धीरे नाश होते रहता है| और यह चैन रिएक्शन तब तक शुरु ही रहता है| जब तक आप ट्रेडिंग के इस प्रकार से, पूरी तरह मुंह मोड़ कर दूर नहीं भाग जाते|

#9). इस में अगर व्यक्ति अपने आप को ना संभाले तो मानसिक और शारीरिक बीमारियां भी उत्पन्न होती है| यहां तक की आत्महत्या करने के भी विचार, उस इंसान को सताने लगते हैं|

आम आदमी के मन में उठने वाले इंट्राडे के सवाल|

अब आपके मन में, यह सवाल तो जरूर उठेगा की; इतना सब आर्थिक दृष्टि से हानिकारक, मानसिक तनाव निर्माण करने वाला ट्रेडिंग का यह तरीका बाजार में क्यों है? और इस का अस्तित्व क्या है? इंट्राडे ट्रेडिंग का अस्तित्व पहले भी था, और आगे भी रहेगा| हर क्षण बाजार में, शेयरों की कीमतें भी ऊपर नीचे होती रहेगी|

यह देखकर,आप के मन में भी इस प्रकार से  ट्रेडिंग करके, हमें भी मौके का फायदा उठाना चाहिए! ऐसा ख्याल, कभी ना कभी तो जरूर आएगा| इसलिए इस इंट्राडे ट्रेडिंग के विभिन्न पहेलियों को समझना होगा, सीखना होगा, तो ही आप इस सच्चाई को जान पाओगे| तो आइए जानते हैं, इन पहलुओंको! जॉबर्स किसे कहते हैं?

who is jobers in hindi – जॉबर्स किसे कहते हैं?

Share bazar में, ब्रोकर के कॉरपोरेट ऑफिस में बैठकर, कमीशन बेसिस पर, ट्रेडिंग करने वाले व्यक्तियों को जॉबर्स कहते हैं| यह जॉबर्स लोग ट्रेडिंग करने के लिए, एक विशेष प्रकार की ट्रेनिंग लेकर, ट्रेडिंग करते हैं| 22 से 23 साल उम्र के लड़कों को ट्रेनिंग का मौका दिया जाता है| क्योंकि इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए आवश्यक माइंड फ्रिकवेंसी, सौदा करने का स्पीड, सही प्रकार से स्क्रीन रीडिंग, स्फूर्ति, हिम्मत, मन की एकाग्रता, चालाक दृष्टि, इन गुणों का विकास कम उम्र के लड़कों में ही, हो सकता है|

इन जॉबर्स को ट्रेनिंग देने के बाद, उनकी काबिलियत और क्षमता के अनुसार ही, मार्केट में ट्रेडिंग करने का काम दिया जाता है| 2009 से यह तरीका भी कम हो रहा है| इसके अलावा अब ट्रेडिंग के लिए सॉफ्टवेयर का उपयोग किया जाता है|

what is algorithm in hindi – अलगोरिदम ट्रेडिंग क्या है?

यह एक प्रकार का रोबोट ट्रेडिंग है| विभिन्न प्रकार के फार्मूला, गणित और टेक्निकल चार्ट पर आधारित ट्रेडिंग करने के लिए कंप्यूटर के जरिए, ऑटोमैटिक तरीके से अपने आप ट्रेडिंग होती है| जिसे सिर्फ एक सेटअप करने की आवश्यकता होती है| बाकी सब काम अपने आप होते हैं| इसे एल्गोरिदम ट्रेडिंग करते हैं| इन सॉफ्टवेयर की कीमतें कुछ महंगी होने के कारण, आम निवेशक के लिए, यह काम कठिन है| इस सॉफ्टवेयर के द्वारा फार्मूला और प्रोग्रामिंग सेट किया जाता है|

जिसके जरिए ऑटोमेटिक सौदे होने लगते हैं| इस तरह, मशीन के जरिए किए जाने वाले काम का मुकाबला; कोई भी मानवी मस्तिष्क नहीं कर सकता| इसके लिए संबंधित सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग कन्यान और ट्रेडिंग आवश्यक है| इस के लिए नॉलेज और सम्बंधित सॉफ्टवेयर प्रोगरामिंग का ज्ञान और ट्रेनिंग आवश्यक है| 

what is flikers in hindi – फ्लिकर्स किसे कहते हैं?

शेयर ब्रोकर के कॉर्पोरेटऑफिस में, सबसे तेज गति से न्यूज का प्रसारण होने के लिए, सिस्टम और सॉफ्टवेयर होते हैं| किसी भी कंपनी के विषय में, और शेयर बाजार के संबंधी कोई न्यूज़ आते ही, सौदा मारने के लिए, यानि आर्डर प्लेस करने के लिए जॉबर्स और सॉफ्टवेयर तैयार होते है, उन्हें फ्लिकर्स कहते है| इन्ही के कारन, बाजार सम्बन्धी न्यूज कही और प्रसारित होने के पहले ही, सम्बंधित शेअरोंकी क़ीमतो मे बदलाव देखा जाता है|

इन विभिन्न प्रकार के ट्रेडिंग के सामने, आम निवेशक या ट्रेडर का टिक पाना मुश्किल है| मान लो! कभी कभार इसमें कामयाबी मिल भी गई; तो भी लंबे समय तक वह रह पाएगी? जरा सोचिये|

आप मुनाफे की आस लिए, रोज नई उमंग, जोश, के साथ बाजार में खड़े हो जाओगे, और लढ- लढ कर, थक जाओगे लेकिन कामयाबी आपसे दो कदम दूर ही रहेगी| इसे आजमाने के लिए आपको सीखना होगा, ट्रेनिंग लेनी होगी, अनुभव लेना होगा, तब जाकर कुछ आशा की; किरण नजर आएगी| सबसे अच्छा यह है कि; पहले अपने शेयर का पोर्टफोलियो बनाओ, और अपनी पूंजी सुरक्षित करो| पैसे कमाने से पहले, उन्हें सुरक्षित रखो| तभी शेयर बाजार के लिए, आपकी नीव मजबूत होगी|

महत्वपूर्ण सूचना|

अतः प्रत्येक ट्रेडर ने, अपने कौशल और कला अनुसार, इस समय का फायदा उठाना चाहिए| यह उनकी अपनी खुद की जिम्मेदारी है| इंट्राडे ट्रेडिंग का विषय काफी गहन है; इस लिए, इस विषय की विस्तार में जानकारी हम आपको आगे, दूसरे चार भागोंमें देंगे, जिसमे; बाजार के सूक्ष्म बातों पर रोशनी डाली गई है| जो आपके लिए बेहद उपयोगी है| 

तो दोस्तों यह मैंने आपको पूरी तरह समझने की कोशिश की है, की what is intraday trading in hindi


Spread this article
2 Comments
[…] what is intraday trading part 1 […]