म्युचअल फण्ड क्या है – What is Mutual Fund in Hindi

You are currently viewing म्युचअल फण्ड क्या है – What is Mutual Fund in Hindi
Spread this article

म्युचअल फण्ड क्या है: नमस्ते दोस्तों, आज के इस आर्टिकल में हम देखेंगे म्युचअल फण्ड क्या है के बारेमे कुछ informative जानकारी हासिल करने की कोशिश करेंगे|

हमारी इस दुनिया में पैसे कमाने के लिए बहोत सारे तरीके है, टेक्निक्स है। कुछ लोग business करके पैसे कमाना चाहते है। कुछ लोग शेयर बाजार से पैसे कमाना चाहते है; पर शेयर बाजार में रिस्क है। इसके कारन लोग अपने पैसे उसमे इन्वेस्ट नहीं करते, इसलिए बहुतसे निवेशक शेयर बाजार से पैसे नहीं कमा पाते| और कुछ लोग शेयर बाजारसेही लेकिन  low Risk लेकर भी, भर भर के पैसे कमाते है|

शेयर बाजार पर आधारित, वो कोनसी चीज़ है; जहा पर low Risk से भी पैसा कमाया जाता है। वह कोनसी जगह है की; जहा पर low Risk से पैसे कमाते है| तो दोस्तों वह तरीका है, म्युचअल फण्ड क्या है, इसके बारे में तो  अपने  जरूर सुना होगा, मगर वह क्या होता है? वह कैसे काम करता है? इसका knowledge ज्ञान तो आपको शायद  नहीं होगा|

तो इसलिए आज हम म्युचअल फण्ड क्या है, इसके बारे में देखेंगे, इसका पूरा बेसिक knowledge समझने की कोशिश करेंगे।   

म्युचअल फण्ड क्या है – What is mutual fund in hindi

Mutual fund विभिन्न प्रकार के शेयरों जैसे उभरते बाजारों, प्रौद्योगिकी और लार्ज-कैप शेयरों  में निवेश करने का एक शानदार तरीका है। म्यूचुअल फंड  निवेशकों को कम फीस वाले फंड में निवेश करना चाहिए। और उन्हें सिर्फ फीस पर ही नहीं, बल्कि उस फंड के प्रदर्शन यानि पास्ट परफॉर्मेंस पर भी ध्यान देना चाहिए।

म्यूचल फण्ड निवेश, शेयर बाजार जोख़िमोंके अधीन है, कृपया दस्तावेज ध्यानसे पढ़े।  यह सेबी गाइड लाइन, हर म्यूचल फण्ड के विज्ञापन में होती है| इससे यह बात तो साफ होती है की; म्यूचल फण्ड शेयर बाजार  पर आधारित, बाजार में निवेश करने का, एक फायनांशियल प्रोडक्ट है|

म्युचअल फण्ड क्या है आज एक दशक पहले की तुलना में बहुत अधिक लोकप्रिय हैं। वे इतने लोकप्रिय हो गए हैं, क्यों कि; वे निवेशकों को अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाने, और एक निवेश के साथ विभिन्न परिसंपत्ति वर्गों में निवेश करने की अनुमति देते हैं। Mutual Fund एक महत्वपूर्ण वित्तीय निवेश उपकरण हैं, जिसका उपयोग विभिन्न निवेशकों से धन एकत्र करने के लिए किया जाता है, ताकि वे विभिन्न प्रकार के कंपनियोंके शेयरों में निवेश कर सकें।

जॉन बोगल द्वारा, पहली बार 1958 में म्यूचुअल फंड की शुरुआत की गई थी, और तब से इसने लोकप्रियता हासिल की है। विचार यह है कि, निवेशक सीधे स्टॉक, बॉन्ड या अन्य प्रतिभूतियों में निवेश करने के बजाय, एक या अधिक म्यूचुअल फंड में यूनिट खरीद सकता है। Mutual Fund आमतौर पर पेशेवर धन प्रबंधकों द्वारा प्रबंधित किए जाते हैं, जो एक ही कंपनी में, निवेश से जुड़े जोखिमों को कम करने के लिए| सभी क्षेत्रों में निवेश करके पोर्टफोलियो में विविधता लाते हैं।

म्युचअल फण्ड AMC क्या है?

सभी म्यूचल फण्ड के अंतर्गत एक AMC (Asset management company) यानि के, एक स्टॉक मार्केट प्रोफेशनल टीम होती है, जो निवेशकोसे जमा किया हुआ पैसा, निर्धारित योजना के अनुसार, कंपनी की शेयरों में इन्वेस्टमेंट करती है|और बदले मे उन निवेशकों को अपने म्यूचल फण्ड के यूनिट देती है|और Mutual Fund को जैसे- जैसे प्रॉफिट होता है, वैसे उस यूनिट की प्राइस बढती है|

इस प्रकार शेयर बाजार में डाइरेक्ट निवेश ना करते हुए भी, कोई भी निवेशक Share Bazar का लाभ उठा सकता है| इस प्रकार म्यूचल फण्ड, शेयर मार्केट और आपके बिच का, एक वाहक है| जो आपके लिए बाजार में निवेश करने का काम करता है|         

म्यूचल फण्ड की स्थापना किसने की?

Mutual fund, एक वह निवेश फंड हैं जो, 1920 के दशक से अमेरिका में उपलब्ध हैं। वे निवेशकों के बीच सबसे लोकप्रिय प्रकार के निवेशोंमें से एक हैं, और उन्हें अधिकांश प्रमुख वित्तीय संस्थानों में पाया जा सकता है।द वैनगार्ड ग्रुप के संस्थापक और पूर्व सीईओ जॉन सी. बोगल को म्यूचुअल फंड का आविष्कार करने का श्रेय दिया जाता है। 1964 में उन्होंने द फर्स्ट इंडेक्स इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट लॉन्च किया था, जिसे बाद में द वैनगार्ड 500 इंडेक्स फंड में बदल दिया गया।

यह भविष्य में एक म्यूचुअल फंड कैसा दिखेगा, इसके लिए एक प्रोटोटाइप बन गया, और इसने एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) और इंडेक्स फंड सहित कई अन्य प्रकार की प्रतिभूतियों को जन्म दिया। 1974 में, Bogle ने द वेंगार्ड ग्रुप नामक एक संगठन की स्थापना की, जो संस्थागत निवेशकों के साथ-साथ व्यक्तिगत निवेशकों के लिए इंडेक्स फंड प्रबंधन पर केंद्रित था, जो व्यापक रूप से विविध बाजारों में निवेश करना चाहते थे।

आपके पसंदिता लेख

म्यूचल फण्ड कैसे काम करता है?

म्यूचुअल फंड निवेश वाहन हैं जो स्टॉक, बॉन्ड, मनी मार्केट और अन्य परिसंपत्तियों में निवेश करते हैं। वे ओपन-एंडेड या क्लोज-एंडेड फंड के रूप में उपलब्ध हैं। म्यूचुअल फंड आपके पोर्टफोलियो में विविधता लाने का एक शानदार तरीका हो सकता है। वे परिसंपत्ति वर्गों के लिए एक्सपोजर प्रदान कर सकते हैं, जो कि आप, अन्यथा अपने जोखिम सहनशीलता, या बजट सीमाओं के कारण अपने आप में निवेश करने में सक्षम नहीं हो सकते हैं।

ओपन-एंडेड म्यूचुअल फंड निवेशक को किसी भी समय,अपने यूनिट खरीदने या बेचने की अनुमति देते हैं। यह उन्क्लो ज-एंड म्यूचुअल फंड की तुलना में अधिक तरल बनाता है, और वे कम व्यय अनुपात की पेशकश कर सकते हैं, लेकिन फंड कंपनी के संचालन के लिए यह अधिक महंगा भी है। क्लोज-एंड म्यूचुअल फंड ऐसे शेयर जारी करते हैं जो केवल खुले बाजार में व्यापार करते हैं – इसलिए इन शेयरों को सीधे फंड कंपनी से खरीदा या बेचा नहीं जा सकता है, बस इसके माध्यम से|

म्युचअल फण्ड इन्वेस्टमेंट क्या है?

म्यूचुअल फंड निवेश पोर्टफोलियो हैं, जो कई शेयरों से बने होते हैं। वे आमतौर पर एक पेशेवर द्वारा प्रबंधित किए जाते हैं जो फंड के निवेशकों की ओर से प्रतिभूतियों में निवेश करते हैं। म्यूचुअल फंड विभिन्न प्रकार के स्टॉक, बॉन्ड और अन्य निवेशों में निवेश करने का एक आसान तरीका प्रदान करते हैं – सभी प्रत्येक व्यक्तिगत स्टॉक पर शोध किए बिना म्यूचुअल फंड आपको एक निर्धारित मूल्य के लिए शेयर खरीदने की अनुमति देते हैं, जिसे प्रति शेयर शुद्ध संपत्ति मूल्य (एनएवीपीएस) कहा जाता है।

फण्ड के यूनिट को दिन खत्म होने से पहले किसी भी समय बेचा जा सकता है -आप उन्हें कभी भी बेच सकते हैं, इस पर कोई प्रतिबंध नहीं है।म्युचुअल फंड निवेशकों को एक बार में, एक से अधिक निवेश करके अपने जोखिम को फैलाने की अनुमति देते हैं, और अक्सर इसे कम लागत वाला निवेश माना जाता है| क्योंकि वे खरीदने या बेचने के लिए कोई कमीशन या शुल्क नहीं लेते हैं।

म्युचअल फण्ड में निवेश कैसे करे?

म्यूचल फण्ड में निवेश करने के लिए भी,  डीमैट अकॉउंट की आवशकता होती है| जिसके जरिये आप अपने मन चाहे फण्ड का चुनाव करके, उसमे खरीदारी या बेच सकते हो| म्यूचुअल फंड विभिन्न प्रकार के शेयरों, जैसे उभरते बाजारों, प्रौद्योगिकी और लार्ज-कैप शेयरों में निवेश करने का एक शानदार तरीका है।

म्यूचुअल फंड निवेशकों को कम फीस वाले फंड में निवेश करना चाहिए। और उन्हें सिर्फ फीस पर ही नहीं बल्कि फंड के प्रदर्शन पर भी ध्यान देना चाहिए। म्युचुअल फंड आज एक दशक पहले की तुलना में बहुत अधिक लोकप्रिय हैं। वे इतने लोकप्रिय हो गए हैं क्योंकि वे निवेशकों को अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाने और एक निवेश के साथ विभिन्न परिसंपत्ति वर्गों में निवेश करने की अनुमति देते हैं।

म्युचअल फण्ड SIP क्या होता है?

SIP यानि सिस्टिमॅटिक इन्वेस्टमेंट प्लान, म्यूचुअल फंड में, SIP एक निवेशक द्वारा किया जाने वाला, आवधिक निवेश है। निवेशक एक एसआईपी स्थापित करेगा, जो आपके बैंक खाते से वसूला जाएगा, या हर महीने एक निश्चित तारीख को उनके सेविंग अकॉउंट से, या क्रेडिट कार्ड से, ECS द्वारा काट लिया जाएगा।

निवेशक कटौती की तारीख भी निर्धारित  कर सकता है। एक SIP के लिए न्यूनतम निवेश राशि आमतौर पर रुपये पर निर्धारित की जाती है। 500/- और कटौती की आवृत्ति 1 से 12 महीने तक कहीं भी हो सकती है। SIP में निवेश किया गया पैसा, कई तरह के फंडों में निवेश किया जाता है; यह मिश्रण इस बात पर निर्भर करता है कि; यह किस तरह का म्यूचुअल फंड है, और आप कितना जोखिम उठाने को तैयार हैं। 

इसमें हर महीने निर्धारित राशि, रेगुलर तौर पर निवेश करने के कारन, बाजार चाहे कितना भी ऊपर- निचे हो, लम्बी अवधि में निवेशक को लाभ ही होता है| इसी लिए SIP के जरिये बाजार में इन्वेस्टमेन्ट करना, औरों की तुलना में सुरक्षित है।

आज हमने क्या सीखा!

तो दोस्तों अब आप सामज गए होंगे की म्युचअल फण्ड क्या है? अगर आपको हमारा यह लेख अच्छा लग रहा हो, तो आप जरूर Social Media Platform पर शेयर कीजिये। और अगर आपको कोई dout हो तो आप जरूर कमेंट करके पूछिए।


Spread this article
3 Comments
[…] रखती है। जैसे की Share market, commodity market, Currency Market, Mutual Fund, […]
[…] म्यूच्यूअल फण्ड क्या है […]
[…] से डिडक्ट हो जाएगा। और अपने आप वह म्यूचुअल फंड के अंदर निवेश कर दिया […]