what is demat account in hindi – डीमैट अकाउंट क्या है?

You are currently viewing what is demat account in hindi – डीमैट अकाउंट क्या है?
Spread this article

What is Demat account in hindi 

नमस्ते दोस्तों आज देखेंगे; what is demat account in hindi – डीमैट अकाउंट क्या होता है? और यह खुलता कैसे है?

What is Demat account in hindi

जिस तरह, पैसे की लेन देन करने, और पैसे रखने के लिए ; बैंक में आपका सेविंग अकाउंट होता है। वैसे ही आपके शेयर रखने और खरीदने बेचने के लिए Demat Account होता है।

How Demat account Open in hindi

यह Demat Account, NSDL – (National Securities Depository Limited), और CDSL – (सेंट्रल डेपोसिटेर सर्विसेस लिमिटेड) इन मे से किसी भी डेपोसिटेरी के साथ आप demat account खोल सकते हो।

NSDL और CDSL यह दोही डेपोसिटेरी है। इन के मान्यता प्राप्त एजेंट अनेक बैंक और ब्रोकर्स है। जैसे की ProfitMart securites limited और अन्य ब्रोकर्स और बैंक है।

आप किसी भी सिक्युरिटीज कंपनी के पास, अपनी सुविधा के अनुसार आप अपना demat account खोल सकते है। आप एक से ज्यादा demat account भी खोल सकते हो। सिर्फ ब्रोकिंग कंपनी अलग होनी चाहिए।

You might also like this

डीमैट अकाउंट खोलने के लिए कितनी fees pay करनी होती है?

Demat Account खोलने के लिए अलग – अलग कंपनिया अपने खुद के अनुसार और SEBI के निर्देशनुसार अकॉउंट ओपनिंग फ़ीस लेती है। यह साधारणतः 500 रुपये से लेकर 1000 रुपये तक होती है।

कई जगहों पर अकॉउंट ओपनिंग फ्री भी होता है। और इन कम्पनीओ की तरफ से सालाना मेन्टेनन्स चार्ज भी लिया जाता है। जिसे AMC (Annual maintenance charge) कहते है। किसी भी Broker के पास आपका Demat Account खोलने के बाद ; आप शेयर खरीदने या बेचने का काम शुरू कर सकते हो। 

What is Share trading account in hindi

ज्यादा तर बैंक सिर्फ Demat Service ही प्रोवाइड करती है। लेकिन share trading service प्रोवाइड नहीं करती है। ऐसे में शेयर ट्रेडिंग के लिए, आपको किसी ना किसी ब्रोकर के पास, अपना शेयर ट्रेडिंग अकॉउंट ओपन करना ही होता है। 

इस लिए डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट, एक ही कंपनी के पास होना, बेहतर होता है। जिस की वजह से, आपको शेयर ट्रेडिंग करने पर, उसे ट्रांसफर करने में आसानी होती है। Demat account और trading account अलग – अलग जग हो पर होने के कारन; आप शेयर बेचने पर उसे ट्रांसफर करने के लिए आपको, dis, स्लिप भर के देनी होगी। और यह प्रक्रिया करने में आपके पैसे और समय दोनो ही खर्च होंगे।

ऐसा होते हुए भी, कोई – कोई इन्वेस्टर लोग, ब्रोकिंग कंपनियों पर अविश्वास के कारन, और अपने शेयरों की सुरक्षा हेतु; अपना डीमैट अकॉउंट और ट्रेडिंग अकॉउंट अलग -अलग जगहों पर रखते है। अब यह बात, उस संबधित इन्व्हेस्टर की मानसिकता और विश्वास पर निर्भर होती है।

What is Instruction slip book in hindi

जिस प्रकार बैंक के व्यवहारो मे, अपने पैसे ट्रांसफर करने के लिए,चेक बुक इस्तेमाल किया जाता है। उसी प्रकार आपके डीमैट अकॉउंट से शेयर ट्रांसफर करने के लिए , इस इंस्ट्रक्शन स्लिप का उपयोग होता है। इस लिए यह एक महत्व पूर्ण दस्तावेज है।

यह आपको डीमैट अकॉउंट खोलने के बाद, सम्बंधित ब्रोकिंग कंपनी से मिलेगा ; जिसे आपको संभालकर रखना है, और जरुरत होने पर ही इस्तेमाल करना है।

Benifits of Demat Account in hindi

Demat account के कारन अब शेयर बाजार में, शेयर खरीदने और बेचने का व्यवहार T + 2 यानि ट्रेडिंग का दिन, और उसके बाद के दो – दिन, इस तरह तीसरे दिन व्यवहार की पूर्ति हो जाती है। साथ ही साथ शेयर के रखने, और पैसे की लें देन भी, आसान और सुरक्षीत होती है। 

Demat Account खोलते समय निम्लिखित बातो पर ध्यान देना चाहिए।

आपको सर्व्हिस प्रोवाइड करने वाली कंपनी, ब्रोकिंग कंपनी की कितनी ब्रांचेस है। ऑनलाइन सुविधा कैसी है। सुविधा के मुताबिक, आपको सर्व्हिस मिल पायेगी या नहीं साथ ही साथ उस कंपनी का अकाउंट चार्जेस और साल का AMC चार्जेस कितना है।

उनकी खुद की डेपोसिटेरी सर्व्हिस है, या नहीं। ब्रोकिंग कंपनी कब स्थापित हुई थी, और उनकी सर्व्हिस कैसे है। कंपनी का कॉर्पोरेट ऑफिस कहा है। यह सारी बाते जान लेना और समाज लेना बेहद जरुरी है। अब तो बोहोतसी बैंको ने भी, यह demat और ब्रोकिंग सर्व्हिस शुरू की है। लेकिन उनके पास advisor और ब्रोकिंग सर्व्हिस का आभाव है। 

Steps to open Demat account in hindi

हमने अब तक demat account के बारे में, बोहोत सी बातों को जाना और समझा है। अब देकते है; यह कैसे ओपन किया जाता है।

Demat account खोलने के लिए आपके पास यह निम्लिखित दस्तावेज होना आवश्यक है। 

  • Pan card
  • Adhar card
  • 6 month bank statement 
  • cancel cheque
  • आपका फोटो और हस्ताक्षर (signature)

शेयर का डीमैट अकाउंट होने से क्या फायदे है?

Dematerialisation यानि डीमैट शेयर, म्यूच्यूअल फण्ड डिबेंचर। इनके सर्टिफिकेट का रूपांतर इलेक्ट्रॉनिक डाटा में होता है। जो डेपोसिटेरी पार्टिसिपेंट यानि (DP) इनके कंप्यूटर में संगृहीत होते है। उसके कारन शेयर का डीमैट होने से, अनेक फायदे होते है। तो आइये जानते है, वह कौनसे फायदे है।

Benefits

1). फिजिकल शेयर सर्टिफिकेट के व्यवहार में होने वाले, धोकेसे इन्वेस्टर का बचाव होता है। 

जैसे की शेयरों की चोरी होना, जाली / फर्जी सर्टिफिकेट मिलना। शेयर ट्रांसफर और डिलीवरी होने में देर लगना। यह सब दिक्कते demat शेयरों में नहीं होती है।

2). शेयर ट्रांसफर भी जल्द हो जाते है; और उसमे होने वाले, ट्रांसफर फी के खर्चे में भी, बचत होती है। 

3). शेयर के लेन – देन संबंधी सारे काम, कंप्यूटर के जरिये होने के कारन, पेपर वर्क कम हो जाता है। 

4). नॉमिनेशन कराना, अड्रेस बदलवाना, यह सारे छोटे – छोटे, पर जरुरी काम आसानी से हो जाते है; और वह भी बिना कोई पैसे खर्च किये। 

5). IPO या राइट इशू के जरिये, अलॉट किए गए शेयर तुरंत ही demat खाते में जमा हो जाते है। जिस के प्रिंटिंग और और छपाई का खर्च भी कम हो जाता है, और पर्यावरण की रक्षा भी होती है। 

6). शेयर ब्रोकरो का काम भी, काफी कम हुआ है, क्यों की फिजिकल शेयर में, उनकी छाननी, गिनती करना स्टैम्प लगवाना और अन्य कामो की, जरुरत नहीं होती है। 

7). आप जब शेयर खरीदते या बेचते हो, तो उस व्यवहार की जानकारी, आपको इलेक्ट्रॉनिक्स कॉन्ट्रैक्ट नोट (ECN) के जरिये, आपके ईमेल पर दी जाती है। यह शेयर के व्यव्हार की एक रिसिप्ट होती है। 

जिसके जरिये आपको शेयर खरीदने, या बेचने ने पर होने वाले खर्च जैसे की, GST, स्टैम्प ड्यूटी, टर्नओवर टैक्स, सिक्योरिटी ट्रांजेक्शन टैक्स, इत्यादि खर्चों के बारे मे पूरी जानकारी मिल जाती है। अगर आप हर साल, इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते हो, तो आपके लिए यह कॉन्ट्रैक्ट नोट जरुरी है। यह सारे Demat account के फायदे होते है।

महत्वपूर्ण सुचना 

हमें विश्वास है की ; यह आर्टिकल आप सबको जरूर पसंद आया होगा, इस लिए, यह महत्व पूर्ण जानकारी आप अपने दोस्तों और परिजनों में जरूर शेयर करे। जिसके कारन उन्हें भी लाभ हो।

अगर आपको लगता है के ; इस आर्टिकल में, कुछ और सुधारित जानकारी होने की आवशकता है, तो हमें सूचित करने हेतु, जरूर कमेंट करे।


Written by;- Vinay chikane. 


Spread this article
4 Comments
[…] डीमैट अकाउंट क्या है। […]
[…] तक  आपने  What is share, What is IPO, What is Demat Account  इनके  बारे  में  विस्तार  में  जाना  […]